नई दिल्ली
 
सशस्त्र बलों में भर्ती के लिए घोषित 'अग्निपथ' योजना का विरोध देशभर में जारी है। इसी बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शनिवार को पार्टी कार्यकर्ताओं और शुभचिंतकों से कई राज्यों में युवाओं द्वारा चलाए जा रहे विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर रविवार को अपना जन्मदिन नहीं मनाने की अपील की है। साथ ही उन्होंने देश की मौजूदा हाल पर भी चिंता जाहिर की है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष 52 साल के हो गए हैं। गांधी ने अपनी अपील में कहा कि मैं देश भर के कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं और अपने शुभचिंतकों से अपील करता हूं कि मेरे जन्म दिन पर किसी भी तरह का उत्सव न मनाए। उन्होंने कहा कि हम देश भर में उपजी परस्थितियों से चिंतित हैं। करोड़ों युवाओं का मन दुखी हैं। हमें उनका दर्द साझा करना चाहिए और उनके साथ खड़ा होना चाहिए। इस बीच कांग्रेस नेता सरकार की प्रस्तावित अग्निपथ भर्ती योजना के विरोध में रविवार को जंतर मंतर पर धरना देंगे।

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने देश के युवाओं के नाम संदेश में कहा, 'आप भारतीय सेना में भर्ती होकर देश सेवा का महत्वपूर्ण कार्य करने की अभिलाषा रखते हैं। सेना में लाखों खाली पद होने के बावजूद पिछले तीन साल से भर्ती न होने का दर्द मैं समझ सकती हूं। एयरफोर्स में भर्ती की परीक्षा देकर रिजल्ट और नियुक्ति का इंतजार कर रहे युवाओं के साथ भी मेरी पूरी सहानुभूति है।' उन्होंने कहा, 'मुझे दुख है कि सरकार ने आपकी आवाज को दरकिनार करते हुए नई सेना भर्ती योजना की घोषणा की है, जो कि पूरी तरह से दिशाहीन है। आपके साथ-साथ कई पूर्व सैनिक और रक्षा विशेषज्ञों ने भी इस योजना पर सवालिया निशान उठाए हैं।'

राहुल ने कहा, 'कांग्रेस आपके साथ पूरी मजबूती से खड़ी है और इस योजना को वापस करवाने के लिए संघर्ष करने और आपके हितों की रक्षा करने का वादा करती है। हम एक सच्चे देशभक्त की तरह सत्य, अहिंसा, संयम और शांति के मार्ग पर चलकर सरकार के सामने आवाज उठाएंगे।' कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, 'मैं आपसे भी अनुरोध करती हूं कि अपनी जायज मांगों के लिए शांतिपूर्ण और अहिंसक ढंग से आंदोलन करें। कांग्रेस आपके साथ है।' उल्लेखनीय है कि कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने सोनिया गांधी की तरफ से देश के युवाओं के नाम यह संदेश जारी किया।

कांग्रेस का बड़ा प्रदर्शन आज
कांग्रेस के सांसद और नेता सशस्त्र बलों में भर्ती के लिए पेश की गई 'अग्निपथ' योजना का विरोध कर रहे युवाओं के साथ एकजुटता प्रदर्शित करने के वास्ते रविवार सुबह यहां जंतर मंतर पर 'सत्याग्रह' करेंगे। देशभर में युवा इस योजना के खिलाफ सड़कों पर उतर आए हैं और कई शहरों व कस्बों से हिंसा की घटनाएं दर्ज की गई हैं। सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस के सांसद, उसकी कार्य समिति के सदस्य और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारी 19 जून को सुबह 10 बजे जंतर मंतर पर शुरू होने वाले 'सत्याग्रह' में हिस्सा लेंगे। पार्टी के एक नेता ने कहा, “यह निर्णय इसलिए लिया गया, क्योंकि 'अग्निपथ' योजना ने हमारे देश के युवाओं को आक्रोशित कर दिया है और वे सड़कों पर उतरकर विरोध प्रकट कर रहे हैं। हमारी जिम्मेदारी है कि हम उनके साथ खड़े रहें।