भोपाल
निकाय चुनाव में आम आदमी पार्टी के प्रदर्शन को देखकर बाकी के अन्य दलों की चिंता बढ़ गई है। आप के पार्षद उम्मीदवारों ने 16 नगर निगमों में ही सवा लाख से ज्यादा वोट पा लिए। वहीं उसके छोटे-बड़े शहरों में मिलाकर तीन दर्जन से ज्यादा पार्षद भी जीते हैं। दस जिला पंचायत सदस्य जीतने का भी दावा आम आदमी पार्टी कर रही है।

आप ने भोपाल और जबलपुर नगर निगमों को छोड़कर बाकी के 14 नगर निगमों में महापौर के लिए अपना उम्मीदवार उतारा था। इसमें से सिंगरौली में महापौर उम्मीदवार विजयी हुई। बाकी के 13 नगर निगमों में उसने ग्वालियर में जबरदस्त प्रदर्शन किया। यहां पर आप उम्मीदवार को 45 हजार से ज्यादा वोट मिले। बाकी के 12 नगर निगमों में भी उसके उम्मीदवारों को वोट मिले हैं। हालांकि ग्वालियर के बाद सबसे ज्यादा वोट उज्जैन में उसके उम्मीदवार को मिले, यहां पर करीब 9300 वोट आप उम्मीदवार को मिले।

सिंगरौली के बाद ग्वालियर में इतने वोट पाने के बाद यह माना जा रहा है कि विधानसभा चुनाव में आप इस बार मजबूती से चुनाव मैदान में उतरेगी। इसके चलते ही अब आम आदमी पार्टी ने संभागीय सम्मेलन करने की रुपरेखा तैयार की है। इसमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी कुछ सम्मेलनों में शिरकत कर सकते हैं।

यह रहा प्रदर्शन
प्रदेश में सिंगरौली महापौर जीतने के अलावा प्रदेश भर में 40 पार्षद उसके जीते हैं। वहीं जिला पंचायत के दस सदस्य, जनपद पंचायत के 25 सदस्य के अलावा आप का दावा है कि सौ से ज्यादा सरपंच और 200 से ज्यादा पंच उसके जीते हैं।