अजमेर
देश-दुनिया में अमन व चैन का पैगाम देने वाली अजमेर के ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह से ईद-उल-अजहा के दिन अंजुमन सचिव सरवर चिश्ती का एक विवादित वीडियो वायरल हुआ है। इसमें वह तकरीर करते हुए कह रहे हैं कि हमारे में वो अरमान पैदा मत कर दो कि हमें फिर से हुकूमत करनी पड़े। यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि रविवार को वायरल अंजुमन सचिव का यह वीडियो कब का और कहां का है। इसमें वह कह रहे हैं कि वे इस मुल्क के शासक रहे हैं। उनके इतिहास को मिटाया नहीं जा सकता। नाम बदलने से इतिहास नहीं मिटता। इंटरनेट मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करने के एक अन्य मामले में रूपनगढ़ पुलिस ने दो युवकों रूपनगढ़ निवासी चेनाराम गवारिया और जुणदा के अर्जुन गिरफ्तार किया है। एसडीएम ने दोनों को जेल भेज दिया है।

खादिम गौहर का नहीं लगा सुराग
दरगाह की सीढ़ियों पर खड़े होकर भड़काऊ बयान देने वाले खादिम गौहर चिश्ती का पुलिस व खुफिया एजेंसियों को अभी कोई सुराग नहीं मिला है। गौहर का संपर्क कन्हैयालाल की हत्या के आरोपितों से होने की सूचना मिलने के बाद खुफिया एजेंसियों को उसकी सरगर्मी से तलाश है।