भोपाल
प्रदेश के नगरीय निकाय चुनावों में महापौर और पार्षद पद के प्रत्याशियों के लिए कल इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन के जरिए मतदान होना है। इस बार चुनाव आयोग के निर्देश पर इस तरह से रिजर्व इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीने रखी गई है कि मतदान के दौरान कहीं ईवीएम खराब होती है तो पंद्रह मिनट के अंदर दूसरी ईवीएम पहुंच जाएगी।

चुनाव के दौरान नानवर्किंग ईवीएम को बदलने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने कलेक्टरों को विस्तृत निर्देश जारी किए है। यदि ईवीएम के कंट्रोल यूनिट में क्लॉक इरर आता है तो उसका उपयोग चुनाव में किया जाएगा उसे बदला नहीं जाएगा।

राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव राकेश सिंह ने मतदान वाले क्षेत्रों के सभी कलेक्टरों से कहा है कि सामग्री वितरण दिवस से मतदान की समाप्ति तक के लिए सेक्टर, जोनल मजिस्ट्रेट को प्रदाय की जाने वाली रिजर्व ईवीएम को रखने के लिए संबंधित निर्वाचन क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति के अनुसार ऐसे सेक्टर बनाए जा सकते है जहां से अधिकतम पंद्रह से बीस मिनट में रिजर्व ईवीएम को संबंधित मतदान केन्द्र तक पहुंचाया जा सके।