रायपुर
कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विवि में बवाल हो गया। संविदा पर काम करने वाले कर्मचारियों ने कुलपति दफ्तर के बाहर धरना दे दिया। ये सभी अचानक यहां बैठकर नारेबाजी करने लगे। कर्मचारियों का दावा है कि विवि प्रबंधन उन्हें काम से निकालने जा रहा है। बेरोजगारी की तलवार सिर पर लटकती देख कर्मचारियों ने हल्ला बोल दिया।

कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय के दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों ने कुलपति प्रो. बलदेव भाई शर्मा के खिलाफ नारेबाजी भी की। कर्मचारियों का कहना है कि, कुलपति स्थानीय लोगों को काम से निकालने की फिराक में हैं। जबकि छत्तीसगढ़ के मूल निवासियों को प्राथमिकता देने की बात कही जाती है। कर्मचारियों का दावा है कि उन्हें कई महीनों से वेतन नहीं दिया जा रहा है। काम छोड?े पर मजबूर किया जा रहा है। दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों ने कहा कि, कुलपति यहां प्लेसमेंट और ठेका प्रथा लागू करने जा रहे है। हम छत्तीसगढ़ के कर्मचारियों को नौकरी से निकालना चाहते है। ऐसे में हम सभी दैवेभो कर्मचारी कहां जाएंगे, कहां काम करेंगे। हम यहां कुल 25 कर्मचारी काम कर रहे, इसी से हमारा घर चलता है।  जब तक कुलपति से बातें नहीं होती तब-तक हम धरना खत्म नहीं करेंगे।