रायपुर
कांग्रेस ने केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के विरोध में 27 जून को सभी विधानसभा क्षेत्रों में सत्याग्रह की घोषणा की है। कांग्रेस यह विरोध प्रदर्शन सुबह 10 बजे से दोपहर एक बजे तक करेगी। इस राजनीतिक आंदोलन में संसदीय सचिव व रायपुर पश्चिम के विधायक विकास उपाध्याय ने सुंदरकांड का पाठ भी रखवा दिया है।कांग्रेस ने सभी विधायकों को उनके क्षेत्र में सत्याग्रह का नेतृत्व सौंपा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल खुद अपने गृह क्षेत्र पाटन में अग्निपथ विरोधी प्रदर्शन का नेतृत्व करने वाले हैं। प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम कोण्डागांव विधानसभा में जाएंगे। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत भी सक्ती के सत्याग्रह में शामिल होंगे।

कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और रायपुर पश्चिम क्षेत्र से विधायक विकास उपाध्याय ने बताया, कांग्रेस पार्टी का भारत के युवाओं को पूरा समर्थन है। रायपुर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र में यह प्रदर्शन आमानाका स्थित पं. रविशंकर शुक्ल यूनिवर्सिटी के मुख्य द्वार पर होगा।सत्याग्रह आन्दोलन के साथ सुन्दरकांड पाठ का आयोजन भी रखा गया है। विधायक विकास उपाध्याय ने कहा कि अग्निपथ योजना को लेकर देश के युवाओं में आक्रोश है, जिसकी जिम्मेदार भारतीय जनता पार्टी की केन्द्र सरकार है। विकास उपाध्याय ने अग्निपथ योजना को तीन कृषि कानूनों की तरह बताते हुए कहा कि केन्द्र सरकार को वापस लेना होगा।

उधर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने अग्निपथ योजना के बहिष्कार का आह्वान किया है। मरकाम ने कहा, गांधी के असहयोग आंदोलन के माध्यम से हम अहिंसक तरीके से अपनी बात को इस तानाशाही सरकार के सामने रख सकते हैं। देश भर के युवाओं से अपील है कि आप सभी अहिंसक तरीके से युवाओं के बीच यह संदेश फैलाएं कि कोई भी युवा अग्निपथ-स्कीम में आवेदन न करें।उन्होंने कहा कि जब इस स्कीम में कोई आवेदन ही नहीं करेगा तो सरकार को यह समझ मे आ जाएगा कि देश के युवाओं ने विनम्रतापूर्वक इस युवा विरोधी स्कीम को नकार दिया है। फिर सरकार पहले की तरह सेना की भर्ती बहाल करने के लिए मजबूर हो जाएगी।