जबलपुर
जबलपुर जिला पंचायत के  17 क्षेत्रों के चुनाव में इस बार कांग्रेस समर्थित बाजी मार ले गए। बीते दो कार्यकाल से भाजपा के कब्जे में रही जिला पंचायत इस बार कांग्रेस के हाथों जाती दिख रही है। 17 क्षेत्रों के नतीजों में 9 क्षेत्र पर कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार विजयी रहे हैं, जबकि 6 क्षेत्र भाजपा समर्थित उम्मीदवारों ने जीते हैं।

2 क्षेत्रों में निर्दलीयों ने परचम लहराया। जिला कांग्रेस अध्यक्ष ग्रामीण राधेश्याम चौबे का कहना है कि इस बार जिला पंचायत में कांग्रेस का अध्यक्ष होगा। उनका दावा है कि जीते 2 निर्दलीय भी कांग्रेस के ही हैं। जबकि भाजपा के ग्रामीण जिला अध्यक्ष की मानें तो उनका कहना है कि जो उम्मीदवार कांग्रेस के बताए जा रहे हैं वे बहुत पहले कांग्रेस छोड़ चुके हैं। इस बार भी हमारा ही अध्यक्ष होगा। हम लगातार तीसरी बार जिला पंचायत में अपना अध्यक्ष बैठाने जा रहे हैं। बहरहाल मतगणना स्थल मॉडल हाई स्कूल पर जो तस्वीर दिख रही है, उसके अनुसार कांग्रेस समर्थित ही जीत की तरफ बढ़ते दिखाई दे रहे हैं। बता दें कि इसके पूर्व 2015 में भाजपा की मनोरमा पटेल, 2010 में भाजपा के भारत सिंह यादव अध्यक्ष रहे।

इनकी जीत तय
कांग्रेस समर्थित महिला प्रत्याशियों ने पंचायत चुनाव अभियान में शुरू से ही बढ़त बनाए रखी। मतगणना के रुझानों के मुताबिक कांग्रेस की मुन्नी बाई (एसटी महिला), गायत्री गोंटिया(एसटी), निशा काछी(ओबीसी महिला),एकता ठाकुर (एसटी), अखिलेश नंदिनी पटैल(अनारक्षित महिला),विवेक पटैल(अनारक्षित मुक्त),इंद्र कुमार पटैल (अनारक्षित मुक्त), मनोहर सिंह (अनारक्षित मुक्त),रामकुमार सिंह (एसटी मुक्त) तथा भाजपा समर्थित सुनीता दाहिया(एससी), मोनू बघेल (अनारक्षित महिला), मनोहर साहू (अनारक्षित), संतोष बरकड़े (एसटी), सत्येंद्र सिंह (अनारक्षित मुक्त), विद्या सिंह (अनारक्षित महिल) मतगणना के रुझानों में आगे हैं। इनके अलावा प्रदीप पटैल (अनारक्षित मुक्त) व राजेश खंगार (एससी) की विजय सुनिश्चित बताई जा रही है।