भोपाल

देश भर में महंगाई और अन्य मुद्दों को लेकर शुरू किया गया कांग्रेस का जनजागरण अभियान पिछले डेढ़ महीने से प्रदेश में थम गया है। इस अभियान को चलाने की कमान पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के हाथों में दी गई थी। उन्होंने चुनाव से पहले तक कई जिलों में जाकर इस अभियान को चलाया। नगरीय निकाय चुनाव आते ही यह अभियान फिलहाल थम गया है। करीब डेढ़ महीने से इन अभियान की जगह पर पूरी कांग्रेस नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव में जुटी हुई है।

इसके चलते यह अभियान फिलहाल मध्य प्रदेश में नहीं चल रहा है। जबकि एआईसीसी के इस कार्यक्रम को देश भर में लागू किया गया था। यह अभियान प्रदेश में 14 नवम्बर को शुरू हुआ था। इसके बाद से यह लगातार चल रहा था। इस अभियान के जरिए कांग्रेस ने तय किया था कि महंगाई के खिलाफ अब लोगों को जागरुक कर धीरे-धीरे केंद्र सरकार के खिलाफ बड़ा आंदोलन करेगी। जिसमें जनता की भी सहभागिता हो, इसलिए यह अभियान शुरू किया गया था। हालांकि इस अभियान को अब तक बहुत ज्यादा सफलता नहीं मिली।
संगठन के चुनाव भी टाले: नगरीय निकाय चुनाव के चलते प्रदेश कांग्रेस ने अपने संगठन के चुनाव भी टाल दिए थे। जून और 15 जुलाई तक जो चुनावी कार्यक्रम था, वह अब पार्टी में 20 जुलाई के बाद होगा। जिसमें ब्लॉक और जिला अध्यक्षों के चुनाव होंगे।

बारिश के बाद आएगी तेजी
यह अभियान अब बारिश के कारण भी कुछ महीने के लिए थम सा रह सकता है। इसके बाद अक्टूबर से दिग्विजय सिंह और कांग्रेस इस अभियान पर और ज्यादा फोकस करेंगे। इसके बाद कांग्रेस विधानसभा चुनाव के चलते महंगाई और अन्य मुद्दों पर प्रदेश में बड़ा आंदोलन कर सकती है।