नई दिल्ली
कांग्रेस के आरोपों पर स्मृति ईरानी ने कहा कि मेरी बेटी 18 साल की है, जो राजनीति नहीं करती। एक कॉलेज की छात्रा है। वो बार नहीं चलाती है। कांग्रेस ने आरटीआई के आधार पर मेरी बेटी पर आरोप लगाए हैं। लेकिन, जिस आरटीआई की बात की जा रही है, उसमें मेरी बेटी का कहीं कोई जिक्र नहीं है। उन्होंने कहा कि अमेठी में गांधी फैमिली अपनी हार को पचा नहीं पाई, इसलिए ऐसे आरोप लगा रही है। वो इसके खिलाफ कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगी।

खेड़ा और रमेश पर बरसीं ईरानी

स्मृति ईरानी ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, '18 वर्ष की मेरी बेटी जो राजनीति में नहीं है, कॉलेज की छात्रा है, कांग्रेस नेताओं ने उसकी छवि धूमिल करने की कोशिश की है। अब मैं कोर्ट जाऊंगी और एक-एक से हिसाब लूंगी।' उन्होंने कहा, पवन खेड़ा और जयराम रमेश ने मेरी बेटी का नाम लिया है। मेरा सवाल है कि आरटीआई के जवाब में मेरी बेटी का नाम कहां है?'

सब गांधी परिवार के निर्देशन में हो रहा है: ईरानी
ईरानी ने कहा कि यह सब गांधी परिवार के निर्देश पर हुआ है। उन्होंने कहा, 'मैं 5,000 करोड़ रुपये की लूट के लिए सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर सवाल उठाती रहती हूं, इस कारण ये सब उन्हीं के निर्देशों पर हो रहा है।' केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी उत्तर प्रदेश की अमेठी लोकसभा में राहुल गांधी की हार को नहीं पचा पा रही है। उन्होंने कहा, 'मैं चुनौती देती हूं- राहुल गांधी को अमेठी में फिर से 2024 का लोकसभा चुनाव लड़ने भेजिए, बीजेपी कार्यकर्ता के नाते उन्हें फिर से धूल चटाने का वादा करती हूं।'

कांग्रेस ने ईरानी की बेटी पर करप्शन का लगाया आरोप
ध्यान रहे कि कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके स्मृति ईरानी की बेटी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि ईरानी की बेटी ने फर्जी दस्तावेजों के आधार पर गोवा में एक कैफे का लाइसेंस लिया है। वहीं, कांग्रेस के ही एक अन्य वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश ने एक आरटीआई का हवाला देकर ईरानी परिवार पर भ्रष्टाचार में संलिप्त होने का आरोप लगाया।