उज्जैन

 पूर्व मुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने  मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान पर नाटक-नौटंकी करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि उज्जैन व प्रदेश विकास का विकास विजन से होगा, टेलीविजन से नहीं। मैं नाटक-नौटंकी में शिवराजजी का सामना नहीं कर सकता। वह मुंबई में एक्टिंग कर प्रदेश का नाम रोशन करें, यहां क्यों इन कामों में लगे हैं।

कमलनाथ नगर निगम चुनाव में पार्टी के महापौर प्रत्याशी महेश परमार के चुनाव प्रचार के लिए  उज्जैन आए थे। महाकाल मंदिर में पूजन के बाद उन्होंने शहीद पार्क पर संकल्प सभा को संबोधित किया। उन्होंने बोला, उज्जैन आध्यात्मिक शक्ति का केंद्र है। यहां आकर मुझे खुशी मिलती है लेकिन सड़क-नाली, पेयजल की समस्या सुनकर दु:ख भी होता है। मुख्यमंत्री और भाजपा को सिर्फ चुनाव व सिंहस्थ में उज्जैन की याद आती है, क्योंकि फिर से भ्रष्टाचार करने का मौका मिल जाता है।

कमलनाथ ने 15 महीने बाद फिर कांग्रेस की सरकार आने का दावा किया। सभा में महापौर प्रत्याशी परमार ने क्षिप्रा जल हाथ में लेकर सबसे पहले क्षिप्रा शुद्धिकरण का कार्य करने का संकल्प लिया। इस दौरान राज्यसभा सदस्य विवेक तन्खा भी मौजूद रहे। उन्होंने भी सभा को संबोधित किया।

शिवसैनिक विधायकों की रक्षा शिवसेना का काम

महाराष्ट्र में राजनीतिक हलचल को लेकर नाथ ने कहा कि हमने महा विकास अघाड़ी (एमवीए) को सपोर्ट किया। हमारे 44 में से 41 विधायक आए थे, तीन रास्ते में थे, जिनसे फोन पर चर्चा हो गई थी। उद्धवजी ने कहा था कि वे मजबूती से खड़े हैं। शिवसैनिक विधायकों की रक्षा करना शिवसेना का काम है, कांग्रेस को इसमें दखल नहीं देना है।