अहमदाबाद
 गुजरात और हिमाचल प्रदेश में इस साल के आखिर में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने सारी तैयारी कर ली है। कांग्रेस ने गुजरात और हिमाचल के लिए वरिष्ठ पर्यवेक्षकों की कमान दो दिग्गज नेताओं को दी है। पार्टी ने राजस्थान के सीएम और वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत को गुजरात और छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल को हिमाचल प्रदेश की कमान सौंपी है। इनके अलावा दोनों राज्यों के लिए दो-दो पर्यवेक्षक भी नियुक्त हुए हैं।

 

गुजरात के लिए छत्तीसगढ़ के मंत्री टीएस सिंह देव और महाराष्ट्र के नेता मिलिंद देवड़ा को पर्यवेक्षक चुना गया है। राजस्थान के पूर्व डेप्युटी सीएम सचिन पायलट और पंजाब के वरिष्ठ नेता प्रताप सिंह बाजवा को पर्यवेक्षक के रूप में हिमाचल प्रदेश की जिम्मेदारी मिली है।

साल के आखिर में होने हैं चुनाव
कांग्रेस की ओर से जारी रिलीज के अनुसार, पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तत्काल प्रभाव से पर्यवेक्षकों की नियुक्ति की है। गौरतलब है कि इसी साल गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में कांग्रेस ने अभी से दोनों राज्यों के लिए कमर कस ली है। पार्टी ने अपने सीनियर नेताओं और मुख्यमंत्रियों को चुनाव में अहम जिम्मेदारी दी है।

दोनों ही राज्यों में कड़ी चुनौती
गुजरात और हिमाचल दोनों ही राज्यों में इस समय बीजेपी सत्ता में है। दोनों ही राज्यों में अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी भी लगातार कैंपेन कर रही है। इस बार कांग्रेस और बीजेपी को आम आदमी पार्टी से चुनौती मिलनी है।