डिंडौरी
डिंडौरी कलेक्टर  रत्नाकर झा ने कहा कि सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों का निराकरण सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ संतुष्टिपूर्वक दर्ज करें। रोजाना सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों की माॅनीटरिंग करें। सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों का निराकरण करने के लिए लगातार शिकायतकर्ता से संपर्क करें। जिससे सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों के निराकरण में तेजी आ सके। कलेक्टर  झा सोमवार को कलेक्टर सभाकक्ष में आयोजित समय-सीमा की बैठक में उक्त निर्देश दिए। इस अवसर पर अपर कलेक्टर  अरूण कुमार विश्वकर्मा, मुख्यकार्यपालन अधिकारी जिला पंचाायत श्रीमती अंजू अरूण कुमार, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. रमेश मरावी, जिला समन्वयक सर्व शिक्षा अभियान  राघवेन्द्र मिश्रा, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग श्रीमती मंजूलता सिंह सहित विभागीय अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे।

कलेक्टर  झा ने कहा कि सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों के निराकरण के लिए मैदानी अमले को भी जिम्मेदारी सौंपें। उन्होंने सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों का निराकरण लेवल-1 पर ही सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर  झा ने सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों के निराकरण में सभी अधिकारियों की कार्यप्रगति की समीक्षा की। उन्होंने सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। कलेक्टर  झा ने बैठक में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना की तैयारियों के बारे में भी जानकारी ली। मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के लिए आवश्यक तैयारियां पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए प्रतिमाह रोजगार मेलों का आयोजन करने को कहा। इससे जिले के बेरोजगार युवक एवं युवतियों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा आयोजित कार्यक्रमों की भी समीक्षा की। रोजगारमूलक कार्याें से लोगों को जोड़ने के निर्देश दिए।

कलेक्टर  झा ने जिले में चल रहे निर्माण कार्याें की भी समीक्षा की। उन्होंने निर्माण कार्याें को गुणवत्तापूर्वक समय-सीमा में पूरा करने के निर्देश दिए। निर्माण कार्याें की लगातार माॅनीटरिंग करने को कहा। उन्होंने गुणवत्ताहीन निर्माण कार्य करने वालों के विरूद्ध कार्रवाई करने के निर्देश दिए। कलेक्टर  झा ने ग्राम भाखा माल में हेरीटेज शराब प्लांट के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने हेरीटेज शराब प्लांट के निर्माण कार्य, वृक्षारोपण, सड़क निर्माण, बाउंड्रीवाल निर्माण कार्याें को गुणवत्तापूर्वक समय-सीमा में पूरा करने के निर्देश दिए। कलेक्टर  झा ने रबी उपार्जन में किसानों के भुगतान तथा उपार्जन के उठाव के बारे में भी जानकारी ली।

कलेक्टर  झा ने जिले में विद्युत व्यवस्था को दुरूस्त करने के निर्देश दिए। विद्युत संबंधी कठिनाईयों का शीघ्रता से निराकरण करने को कहा। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत समस्या नहीं होनी चाहिए।कलेक्टर  झा ने खरीफ फसलों के लिए डीएपी एवं यूरिया की उपलब्धता के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि जिले में किसानों के लिए डीएपी एवं यूरिया की मात्रा कम नहीं होनी चाहिए। कलेक्टर  झा ने मत्स्य विभाग को तालाबों की संख्या की सूची सौंपने के निर्देश दिए। जिससे बरसात के मौसम में तालाबों में मछली पालन किया जा सके। कलेक्टर  झा ने विद्यार्थियों को रोजगार के अवसरों के बारे में जानकारी देने के निर्देश दिए। उन्होंने जनजाति कार्य विभाग और स्कूल शिक्षा विभाग को निर्देश दिए कि विद्यार्थियों को तकनीकी शिक्षा के लिए पाॅलीटेक्निक काॅलेज, आईटीआई और कौशल विकास केन्द्रों में प्रवेश लेने के लिए प्रेरित करें।