नई दिल्ली
साजन प्रकाश और श्रीहरि नटराज की स्टार जोड़ी अगले महीने बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों (सीडब्ल्यूजी) में चार सदस्यीय भारतीय तैराकी टीम का नेतृत्व करेगी। इनके अलावा दिल्ली के तैराक कुशाग्र रावत और मध्य प्रदेश के अद्वैत पेज 28 जुलाई से आठ अगस्त तक होने वाले इन खेलों में देश का प्रतिनिधित्व करेंगे। भारतीय तैराकी महासंघ (एसएफआई) ने 2022 सीडब्ल्यूजी के लिए चार कोटा स्थान हासिल किए थे और राष्ट्रीय निकाय ने घोषणा की थी कि 2018 में गोल्डकोस्ट सीडब्ल्यूजी में अपनी संबंधित स्पर्धाओं में छठा स्थान हासिल करने वाले तैराकों के बराबर समय निकाले वाले खिलाड़ियों को इस बार जगह देने पर विचार किया जाएगा।

प्रकाश का तीसरा राष्ट्रमंडल खेल
अनुभवी प्रकाश 200 मीटर बटरफ्लाई स्पर्धा में भारत के लिए पहले पदक की तलाश में होंगे, जिसके लिए उन्होंने छठा स्थान हासिल किया। वह इसके अलावा 50 मीटर और 100 मीटर बटरफ्लाई स्पर्धाओं में भी भाग लेंगे। यह उनका तीसरा राष्ट्रमंडल खेल अभियान होगा। वहीं 21 साल के नटराज 50 मीटर, 100 मीटर और 200 मीटर बैकस्ट्रोक स्पर्धाओं में भाग लेंगे। टोक्यो ओलंपिक के बाद बंगलूरू के तैराक के लिए यह पहली बड़ी चुनौती होगी। कुशाग्र और अद्वैत ने 1500 मीटर फ्रीस्टाइल स्पर्धा के लिए क्वालिफाई किया है। कुशाग्र 200 मीटर और 400 मीटर फ्रीस्टाइल में भी भाग लेंगे।

तैराकी में अभी तक नहीं मिला है पदक
तैराकी स्पर्धाएं 29 जुलाई से तीन अगस्त तक होंगी। राष्ट्रमंडल खेलों के मुख्य आयोजन में अब तक भारत को तैराकी में कोई पदक नहीं मिला है। दिल्ली में वर्ष 2010 में पैरा तैराक प्रशांत कर्माकर का 50 मीटर फ्रीस्टाइल में कांस्य पदक भारत का इन खेलों का इकलौता पदक है।