बालोद

कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे ने आज संयुक्त जिला कार्यालय के सभाकक्ष में राजस्व अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में उन्होंने विवादित नामांकन,  सीमांकन, बंटवारा, लोक सेवा गारंटी, नजूल भूमि, स्वामित्व योजना आदि के संबंध में विभागवार समीक्षा की। उन्होंने लंबित प्रकरणों, शिकायतों एवं समस्याओं के निराकरण समय-सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने राजस्व से संबंधित प्रकरणों, अतिक्रमण हटाने, नक्शा दुरूस्ती, फर्द बंटवारा, सीमांकन, नामांतरण, निस्तारी सड़क बनाने आदि की तहसीलवार समीक्षा की। उन्होने सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व और तहसीलदारों को अविवादित राजस्व प्रकरणों का निराकरण समय-सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी एस.डी.एम., पटवारी एवं कोटवारों को मुख्यालय में रहने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने जिले में पुरातात्विक स्थलों को चिन्हांकित कर प्रस्ताव बनाकर भेजने कहा। उन्होंने बैठक में राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के हितग्राहियों के राशि अंतरण, चिटफंड कंपनियों, वृक्षों की अवैध कटाई, राशन कार्ड से संबंधित शिकायतों, टीकाकरण की प्रगति, गोठान समिति, वृक्षारोपण आदि के संबंध में विस्तारपूर्वक चर्चा की तथा शीघ्र निराकरण करने के निर्देश दिए। बैठक में एडीएम  संयुक्त कलेक्टर श्री अभिषेक दीवान, एसडीएम गुरुर श्रीमती रश्मि वर्मा, एसडीएम गुण्डरदेही श्रीमती प्रेमलता चंदेल, एसडीएम बालोद श्री जी.डी.वाहिले सहित सभी तहसीलदार एवं नायब तहसीलदार उपस्थित थे।