धार
पीथमपुर की एसआरएफ फ़ाउंडेशन ने नालछा के अस्पताल को गोद लेकर वहाँ आवश्यक व्यवस्थाएँ जुटाने की मंशा जाहिर की है।इसी के मद्देनज़र कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने एसआरएफ फ़ाउंडेशन के डायरेक्टर डॉ सुरेश रेड्डी के साथ बुधवार को अस्पताल का निरीक्षण किया। निरीक्षण उपरांत कलेक्टर ने सीएमएचओ डॉ रघुवंशी एवं बीएमओ डॉ अरोरा सहित अस्पताल के स्टाफ़ से चर्चा की।

कलेक्टर का कहना था की एसआरएफ फ़ाउंडेशन के पदाधिकारियों को यहाँ लेकर आने का मतलब है कि आपसे बात करके यहाँ की ज़रूरत समझना है। आप यहाँ उपलब्ध सुविधाओं और उपलब्ध संसाधन से उन्हें अवगत कराएँ और आवश्यकता से फ़ाउंडेशन को अवगत कराएँ। ख़याल रहे कि उपलब्ध अधोसंरचना का बेहतर उपयोग हो, अस्पताल में पेशेनट फ़्लो स्मूथ रहे। विशेषकर इस बात का ध्यान रखा जाए कि गर्भवती महिलाओं के लिए कम से कम मूव्मेंट रहे।

उन्होंने स्पष्ट किया कि अस्पताल के लिए अल्ट्रा लक्ज़री आइटम की माँग ना करें जिसे  मेंटेन करने में अस्पताल प्रशासन असफल रहे।एसआरएफ फ़ाउंडेशन को शीघ्र ही इस बारे में अवगत करा दें ताकि वे कार्य आरम्भ कर सकें। उल्लेखनीय है कि फाउंडेशन द्वारा स्वास्थ कार्यक्रम के तहत प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नालछा को गोद लेकर मॉडल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के रूप में विकसित किए जाने हेतु चयनित किया है।यहाँ डॉ रेड्डी द्वारा बताया गया कि फाउंडेशन द्वारा विगत वर्ष में नालछा एवं धार विकासखंड की 15 शासकीय शालाओं को चयनित कर मॉडल स्कूल के रूप में विकसित किया है। इसी क्रम में वर्तमान वर्ष में एसआरएफ फाऊंडेशन द्वारा 15 आंगनवाड़ियों का चयन नालछा विकासखंड में किया गया है। जिन्हें मॉडल आंगनवाड़ी के रूप में विकसित किया जाएगा।