बीजिंग
चीन इन दिनों दोहरे संकट की मार झेल रहा है। बीते दिनों देश में विनाशकारी बाढ़ और तूफानी बारिश से पहाड़ी क्षेत्र पर बुरा प्रभाव पड़ा, जिससे करीब 18 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए। वहीं अब विनाशकारी बाढ़ के बाद, बीजिंग ने अपने नागरिकों को देश में उच्च तापमान के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। क्योंकि देश के विशाल क्षेत्रों में भयंकर लू चल रही है।

राष्ट्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने कहा-
राष्ट्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने कहा कि शनिवार को दिन के उजाले के दौरान, इनर मंगोलिया, शानक्सी, शांक्सी, हेबेई, बीजिंग, तियानजिन, शेडोंग, हेनान, अनहुई, जिआंगसु, हुबेई, हुनान, जियांग्शी, सिचुआन, चोंगकिंग, ग्वांगडोंग, फ़ुज़ियान और झिंजियांग के तापमान 35 से 36 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की उम्मीद है। केंद्र ने कहा कि इनमें से कुछ क्षेत्रों में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से ऊपर भी पहुंच सकता है। केंद्र ने घर के बाहर निकलने और बाहरी गतिविधियों से बचने की सलाह दी है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, दोपहर में उच्च तापमान की अवधि के दौरान और उच्च तापमान के संपर्क में आने वाले श्रमिकों को आवश्यक सुरक्षात्मक उपाय करने का सुझाव दिया गया है। आपको बता दें कि चीन में चार-स्तरीय, रंग-कोडित मौसम चेतावनी प्रणाली है, जिसमें लाल सबसे गंभीर चेतावनी का प्रतिनिधित्व करता है, इसके बाद नारंगी, पीला और नीला होता सबसे गंभीर अलर्ट होता है।

पूर्वी चीन में बाढ़ का कहर
इससे पहले पूर्वी चीन के जियांग्शी में करीब 5 लाख लोग बारिश से प्रभावित हुए थे। वहीं जियांग्शी में शनिवार से दोपहर 3 बजे तक 55 काउंटियों में भारी बारिश और बाढ़ देखी गई। जियांग्शी में हुई भारी बारिश से 43,300 हेक्टेयर फसल का नुकसान हो गया है। चीन ने भारी बारिश के बीच अपने बाढ़ नियंत्रण आपातकालीन प्रतिक्रिया को स्तर II में अपग्रेड किया। प्रांतीय बाढ़ नियंत्रण मुख्यालय के अनुसार, पिछले मंगलवार को चीन के जियांग्शी प्रांत में भारी बारिश के कारण कुल 548,000 लोग प्रभावित हुए थे।