रायपुर
छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस विकलांग सेवा प्रकोष्ठ द्वारा कटे फटे होंठ व तालु के जन्मजात विकृति के बच्चों का तीन दिवसीय परीक्षण आॅपरेशन शिविर का आयोजन 17 से 19 जुलाई तक कालड़ा बर्न व कास्मेटिक सेंटर में किया गया है। शिविर में 50 बच्चों के आॅपरेशन का लक्ष्य रखा गया है । कांग्रेस विकलांग सेवा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र कोचर व विजय चोपड़ा ने बताया कि शिविर में कटे फटे होंठ के बच्चों का परीक्षण डॉ सुनील कालड़ा द्वारा किया जावेगा और 32 बच्चों का पंजीकरण किया गया है। कोरोना नियमों का पालन करते हुए सीमित मरीजों का परीक्षण किया जा रहा है ।

डॉ सुनील कालड़ा ने इस अवसर पर कहा कि मुख्यमंत्री बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य सेवाओं का सुचारू संचालन हो रहा है । अध्यक्ष महेन्द्र कोचर ने कहा कि कई बच्चों के जन्म से होंठ कटे फटे होते हैं , जिससे सुन्दर बच्चे भी कुरूप लगते हैं , उन्हें खाने पीने में भी दिक्कत होती है , बोलने में उच्चारण सही नही हो पाता व बच्चों व माता पिता में हीन भावना पैदा हो जाती है ।  डॉ सुनील कालड़ा द्वारा ऐसे बच्चों के चेहरे आॅपरेशन से ठीक किये जायेंगे।  कोचर ने बताया कि ये आॅपरेशन प्राइवेट हास्पिटल में कराने से लगभग 25 से 30 हजार रुपये का खर्च आता है जिसे प्रदेश कांग्रेस विकलांग सेवा प्रकोष्ठ के माध्यम से  डॉ सुनील कालड़ा  व स्माईल ट्रेन द्वारा नि:शुल्क किया जा रहा है । प्रदेश कांग्रेस विकलांग सेवा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष महेन्द्र कोचर ने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल , विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत , प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम , उपाध्यक्ष गिरीश देवांगन,प्रभारी महामंत्री रवि घोष , अमरजीत चावला कोषाध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल , पारस चोपड़ा के मार्गदर्शन में अभी तक बीस हजार से ज्यादा विकलांगों को कृत्रिम पैर हाथ , ट्राइसिकल , कैलिपर्स , श्रवण यंत्र वैसाखी इत्यादि से लाभान्वित किया गया है। शिविर में कटे फटे होंठ के मरीजों के ठहरने व भोजन की व्यवस्था प्रकोष्ठ द्वारा की गई है। शिविर में महेन्द्र कोचर ,डॉ सुनील कालड़ा विजय चोपड़ा , महावीर मालू ,प्रवीण जैन , विजय भट्टाचार्य , मुकेश शाह , प्रकाश पुजारा , दीपक पाण्डेय, की सक्रिय भूमिका है ।