भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज स्मार्ट उद्यान में नीम, बरगद और गूलर के पौधे रोपे। मुख्यमंत्री चौहान के सुपुत्र कर्तिकेय सिंह ने भी पौध-रोपण किया। योग अनुसंधान परिषद के सिकंदर अहमद, सुनील सोनी, निशांत शर्मा, डॉ. माहीन सिकंदर, लीलेन्द्र मारण और चेतन रावत पौध-रोपण में शामिल हुए।

मुख्यमंत्री चौहान के साथ दूरदर्शन केन्द्र भोपाल के सहायक निदेशक डॉ. सतेन्द्र शरण तथा उनकी पत्नी डॉ. सुनीता शरण ने अपनी विवाह वर्षगांठ पर पौध-रोपण किया। डॉ. सुनीता शरण, ऑल इंडिया रेडियो भोपाल की उद्घोषक और मंचीय कलाकार हैं। डॉ. शरण की पुत्री कुमारी सत्यांशी शरण और पुत्र अनुराग शरण भी उपस्थित थे।

योग अनुसंधान परिषद विगत 30 वर्ष से भोपाल जिले में योग के प्रचार-प्रसार और प्राकृतिक चिकित्सा एवं एक्यूप्रेशर पद्धति से उपचार के क्षेत्र में सक्रिय है। संस्था प्रतिवर्ष अपने स्थापना दिवस 30 अप्रैल को 50 से अधिक पौधों का रोपण करती है। संस्था द्वारा पर्यावरण- संरक्षण और स्वच्छता के क्षेत्र में भी गतिविधियाँ संचालित की जाती हैं।

पौधों का महत्व

बरगद का धार्मिक महत्व है। आयुर्वेद के अनुसार बरगद के पेड़ से कई बीमारियों का इलाज संभव है। इसी तरह एंटीबायोटिक तत्वों से भरपूर नीम को औषधि के रूप में जाना जाता है। आयुर्वेद के अनुसार गूलर कई रोगों के निदान में सहायक है। गूलर को पूजनीय वृक्ष भी माना गया है।