भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री निवास सभाकक्ष में स्वतंत्रता सेनानी और प्रख्यात चिकित्सक डॉ. बिधान चंद्र राय की तस्वीर पर माल्यार्पण कर पुण्य-स्मरण किया। मुख्यमंत्री ने उनके कार्यों को भी याद किया। डॉ. राय की आज जयंती और पुण्य-तिथि है। उनका जन्म दिवस राष्ट्रीय डॉक्टर-डे के रूप में मनाया जाता है।

डॉ. बिधानचंद्र राय का जन्म एक जुलाई 1882 को बिहार के बांकीपुर में हुआ था। वे कुशल चिकित्सक तथा स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे। उनको आधुनिक पश्चिम बंगाल का निर्माता माना जाता है। उनकी राजनीति और चिकित्सा के क्षेत्र में महान उपलब्धियों एवं देश को प्रदत्त महती सेवाओं के लिए उन्हें वर्ष 1961 में राष्ट्र के सर्वोत्तम अलंकरण “भारत रत्न” से विभूषित किया गया।

विश्व के डॉक्टरों में डॉक्टर रॉय का प्रमुख स्थान था। प्रारंभ में देश में उन्होंने पं. मोतीलाल नेहरू और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जैसे नेताओं के चिकित्सक के रूप में ही ख्याति अर्जित की। वे रोगी का चेहरा देखकर ही रोग का निदान और उपचार बता देते थे। अपनी मौलिक योग्यता से वे वर्ष 1909 में रॉयल सोसायटी ऑफ मेडिसिन तथा 1940 में “अमरीकन सोसायटी ऑफ चेस्ट फिजीशियन” के फैलो चुने गए। बंगाल में अकाल के समय डॉ. बिधानचंद्र राय द्वारा की गई जनता की सेवाएँ अविस्मरणीय रही हैं। एक जुलाई 1962 को डॉ. राय का निधन हुआ।