खंडवा
 श्री धूनीवाले दादाजी दरबार में गुरु पूर्णिमा उत्सव का उल्लास छाया हुआ पर्वत से 1 दिन पहले ही श्री दादाजी दरबार में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। सुबह से रिमझिम वर्षा के बावजूद श्रद्धालुओं का उत्साह कम नहीं हुआ। शहर सहित महाराष्ट्र के अलग अलग क्षेत्रों से आये श्रद्धालु भीगते हुए निशान यात्रा के साथ दादाजी दरबार पहुंचे। भज लो दादाजी का नाम भज लो हरिहर जी का नाम के जयकारे लगाते हुए मुख्य मार्गों से गुजरते श्रद्धालुओं के जत्थों का उत्साह देखते ही बन रहा था। मंगलवार दोपहर करीब तीन बजे तक दादाजी दरबार में लगभग 20 हजार श्रद्धालुओं ने समाधि दर्शन कर लिए थे। इधर दूर दूर से आ रहे श्रद्धालुओं की सेवा के लिए पूरा शहर जुट गया है।

शहर के सीमा क्षेत्रों से लेकर दादाजी दरबार तक जगह जगह भंडारों में पोहा, जलेबी, सब्जी पूड़ी, कड़ी खिचड़ी, चाय सहित तरह तरह के पकवान श्रद्धालुओं को निशुल्क परोसे जा रहे हैं। 200 से अधिक स्थानों पर भण्डारों का आयोजन दो दिन तक चलेगा। इधर श्री दादाजी दरबार परिसर में भी भक्तों को भोजन प्रसादी का वितरण किया जा रहा है। मेले में आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा के मद्देनजर करीब पुलिस बल तैनात किया गया है। वहीं सीसीटीवी कैमरों से भी हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है।