नई दिल्ली
 
दक्षिण-पश्चिम मानसून आज दिल्ली, पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ कुछ हिस्सों में पहुंच गया। इससे लोगों को भीषण गर्मी और उमस से राहत मिली है। दिल्ली और चंडीगढ़ सहित कई हिस्सों में भारी बारिश हुई, जिससे सड़कें जलमग्न भी हो गईं। आईएमडी ने कहा है कि मानसून के 6 जुलाई तक पूरे देश में आने की संभावना है। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने शुक्रवार को नई दिल्ली में मध्यम बारिश की चेतावनी देते हुए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है मौसम विभाग ने कहा कि मौसमी बारिश पूरे उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर, राजस्थान के कुछ हिस्सों, पूरी दिल्ली, पंजाब और हरियाणा के कुछ हिस्सों और चंडीगढ़ में हुई। मॉनसून की उत्तरी सीमा अब दीसा, रतलाम, जयपुर, रोहतक, पठानकोट और जम्मू से होकर गुजरती है। मौसम विभाग ने बताया कि पंचकूला, कैथल, महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, सोनीपत और यमुनानगर सहित हरियाणा के कई स्थानों पर भी भारी बारिश हुई। इस बीच अगले 24 घंटों में राजस्थान, पूरे पंजाब और हरियाणा के कुछ और हिस्सों में मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं।

यूपी में पूरब से पश्चिम तक मानसून की झमाझम बारिश
मानसून ने पिछले 48 घंटों में पूरब से लेकर पश्चिम तक पूरे उत्तर प्रदेश को अपनी गिरफ्त में ले लिया है। मानसून ने ‘देर आए दुरुस्त आए’ की कहावत को चरितार्थ करते हुए पूरे राज्य को अपनी फुहारों से तर कर दिया है। बिजनौर, लखीमपुर, वाराणसी, हरदोई जैसे जिलों में भारी वर्षा दर्ज की गई है। मौसम विभाग के मुताबिक अगले दो-तीन दिन भारी वर्षा होने की संभावना है। वहीं, कानपुर देहात में बुधवार की रात तेज हवा से गिरे खंभे से दबकर दो मासूमों की मौत हो गई। उधर लखीमपुर में कच्ची दीवार गिरने से बुजुर्ग की मौत हो गई।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिले भी भींगे
पश्चिम उत्तर प्रदेश के अधिकतर जिलों में भी गुरुवार को मानसून ने दस्तक दे दी है। मेरठ, बुलंदशहर, बिजनौर, शामली और सहारनपुर मे सुबह से ही बूंदाबांदी शुरू हो गई। मेरठ में मानसून की दस्तक के साथ ही सुबह छह से नौ बजे तक मात्र चार मिमी बारिश दर्ज की गई। 2021 की तुलना में मेरठ में मानसून की दस्तक कमजोर रही है। 2021 में पूरे जून में 143 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई थी जबकि 2022 में यह 47 दर्ज हुई है।

अगले दो-तीन ऐसा ही रहेगा मौसम
लखनऊ मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि मानसून सक्रिय है। अगले दो-तीन दिन ऐसा ही मौसम रहेगा। पूर्वी उत्तर प्रदेश समेत सभी जिलों में कहीं कम और कहीं ज्यादा बरसात होगी। तापमान में गिरावट होगी।

बिहार के 8 जिलों में भारी बारिश, राज्य भर में गरज-तड़क की चेतावनी
बिहार में वर्षा की गतिविधियों में एकाएक बढ़ोतरी हुई है। पटना समेत राज्य के सभी हिस्सों में बुधवार की देर रात से लेकर गुरुवार की सुबह तक झमाझम वर्षा ने लोगों को उमस भरी गर्मी से राहत दी है। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार पटना समेत प्रदेश में अगले दो दिनों तक मेघ गर्जन के साथ मूसलाधार वर्षा का अनुमान है। प्रदेश के आठ जिलों के पूर्वी व पश्चिमी चंपारण, शिवहर, सीतामढ़ी, गोपालगंज, मधुबनी, सुपौल, अररिया व किशनगंज में वज्रपात और भारी वर्षा का औरेंज अलर्ट जारी किया गया है।