नई दिल्ली
तोक्यो ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली महिला बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन ने बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (BFI)पर गंभीर आरोप लगाया है। कॉमनवेल्थ गेम्स से ठीक पहले लवलीना बोरगोहेन ने बीएफआई पर मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाया है। लवलीना का कहना है कि बीएफआई में चल रही राजनीति के कारण वह अपने ट्रेनिंग पर ध्यान नहीं दे पा रही हैं।

लवलीना ने आरोप लगाते हुए कहा, 'बीएफआई के अधिकारी बार बार मेरे कोच संध्या गुरुंगजी को खेल गांव नहीं आने दे रहे हैं, जिसके कारण मैं ट्रेनिंग नहीं कर पा रही हूं जिससे कि मुझे अब मानसिक प्रताड़ना से गुजरना पड़ रहा है।'
 

बता दें कि पिछले साल तोक्यो ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली स्टार भारतीय बॉक्सर लवलीना ने सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए अपनी व्यथा सुनाई। लवलीना ने आरोप लगाया कि 28 जुलाई से शुरू हो रहे गेम्स से ठीक पहले उनकी कोच संध्या गुरुंग को बिना बताए हटा दिया गया था और फिर जब आखिर में उन्हें शामिल किया गया, तो अब खेल गांव में उन्हें एंट्री नहीं मिल रही है, जिसने उनकी तैयारियों को प्रभावित किया है।

लवलीना ने अपने ट्वीट में कहा, 'मैं बड़े दुख के साथ कह रही हूं कि मेरे साथ प्रताड़ना किया जा रहा है। जिस कोच की मदद से मैं ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था उन्हें बार-बार हटा कर मेरे खेल और ट्रेनिंग को प्रभावित करने की कोशिश की जा रही है। बहुत कोशिशों के बाद उन्हें जब आने गया तो खेल में उन्हें एंट्री नहीं दी जा रही है।'

उन्होंने कहा, 'मुझे ट्रेनिंग में काफी परेशानी उठानी पड़ रही है और मानसिक प्रताड़ना भी होता है। मेरे साथ ऐसा तब किया जा रहा है जब कॉमनवेल्थ गेम्स में मेरे मुकाबले के सिर्फ 8 दिन बचे हुए हैं। मेरे दूसरे कोच को भी वापस भेज दिया गया। मैं नहीं समझ पा रही हूं कि कैसे मैं अपने ट्रेनिंग पर ध्यान दूं। इन्हीं सब कारणों से पिछले वर्ल्ड चैंपियनशिप में मेरा प्रदर्शन खराब रहा था और कॉमनवेल्थ गेम्स में भी मेरे साथ ऐसा ही करना चाहते हैं।' हालांकि लवलीना ने अपने इस नोट में BFI से जुड़े किसी भी अधिकारी का नाम नहीं लिया।