नई दिल्ली
भारतीय जनता पार्टी (BJP) और उसके विचारों का समर्थन करने वाली राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) 2023 में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए संगठन को सुव्यवस्थित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। पार्टी ने  उन राज्यों में चुनाव को देखते हुए चार महासचिवों (संगठन) के लिए एक नए पद की घोषणा की है। इसने पूर्वोत्तर के राज्यों में क्षेत्रीय संगठन महामंत्री का जिम्मा संभाल रहे अजय जामवाल को मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ का क्षेत्रीय संगठन महामंत्री नियुक्त किया गया है। दोनों राज्यों में पार्टी 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले अपने कैडर को मजबूत करने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है।

विशेष रूप से छत्तीसगढ़ में पार्टी के पिछले विधानसभा चुनाव में हारने के बाद, बीजेपी कांग्रेस सरकार को घेरने और उसके कुशासन के आरोप के खिलाफ एक अभियान चलाने की कोशिश कर रही है। पार्टी ने राज्य विधानसभा में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया है सरकार की अस्थिरता को दिखाने के लिए सबूत के तौर पर टीएस सिंह देव के इस्तीफे का हवाला दिया है।

जामवाल ने कई मतभेदों को सुलझाने में अहम भूमिका निभाई है

छत्तीसगढ़ कैबिनेट में एक मंत्री ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर गंभीर आरोप लगाए हैं। राज्य में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार है और लोग बदलाव की तलाश में हैं। ऐसे समय में भाजपा ने चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में संगठन चलाने के अनुभव वाले एक व्यक्ति को भेजा है। पार्टी को जामवाल पर भरोसा है। जिन्होंने उत्रर-पूर्व क्षेत्र में पार्टी के भीतर के मतभेदों को सुलझाने में अहम भूमिका निभाई है और संगठन को भी मजबूत किया है।

एक पदाधिकारी ने कहा, मध्य प्रदेश और छ्त्तीसगढ़ दोनों राज्यों की पार्टी इकाई में तनातनी है। बदलाव और नए चेहरों को सामने का मूड है जिसकी वजह से पुराने और अनुभवी नेताओं और युवा नेताओं के बीच घटास भी देखने को मिलती है। ऐसे में जामवाल का काम मुद्दों को सुलझाने और पार्टी और संघ के बीच मुद्दों पर आम सहमति बनाने का काम होगा।

श्रीनिवासलु अब पंजाब जाएंगे

उन्होंने कहा, तेलंगाना में राज्य महासचिव (संगठन) रहे मंत्री श्रीनिवासलु अब पंजाब जाएंगे। तेलंगाना में भी 2023 में चुनाव होंगे। वह राजनीति और वैचारिक मुद्दों को संतुलित करने में पारंगत हैं। उन्होंने राज्य में पार्टी के विस्तार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और पूर्व कांग्रेस नेता और मंत्री डीके अरुणा और पूर्व सांसद के वी रेड्डी सहित अन्य दलों के वरिष्ठ नेताओं को भाजपा में शामिल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। हालांकि, श्रीनिवासलू और राज्य इकाई के अध्यक्ष संजय बंदी के आमने-सामने होने की खबरें थीं, अधिकारी ने कहा कि पंजाब में उनके कदम से राज्य में पार्टी के विस्तार को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है।