मुंबई
 

महाराष्ट्र के नए सीएम एकनाथ शिंदे पर शरद पवार ने बड़ा हमला बोला है. फ्लोर टेस्ट से पहले NCP प्रमुख और सीनियर नेता शरद पवार ने दावा किया कि शिंदे सरकार छह महीने से ज्यादा नहीं चलेगी. उन्होंने कहा कि शिंदे को मध्यावधि चुनाव के लिए तैयार रहना चाहिए.

शरद पवार ने यह दावा NCP विधायकों और अन्य नेताओं से बातचीत के दौरान किया. रविवार शाम को शरद पवार ने कहा, 'महाराष्ट्र में बनी नई सरकार अगले छह महीनों में गिर सकती है. ऐसे में सभी को मध्यावधि चुनाव के लिए तैयार रहना चाहिए.'

पवार ने यह बात कही इसका दावा उन्हीं की पार्टी के एक विधायक ने बताया है. वह बोले कि पवार ने कहा कि शिंदे के साथ जो बागी विधायक हैं उनसे में बहुत से मौजूदा व्यव्स्था से खुश नहीं हैं. जैसे ही मंत्रालय बांटे जाएंगे तो सब बाहर आ जाएगा. इसका नतीजा यही होगा कि सरकार गिर जाएगी.

विधायक ने बताया कि शरद पवार ने मीटिंग में उम्मीद जताई कि बागी विधायक वापस पार्टी में लौटकर आएंगे. विधायक के मुताबिक, पवार ने कहा कि हमारे पास ज्यादा से ज्यादा छह महीने हैं, ऐसे में NCP विधायक अपने विधानसभा क्षेत्र में ज्यादा से ज्यादा वक्त गुजारें.

बता दें कि महाराष्ट्र में शिवसेना दो धड़ों में बंट गई है. इसकी वजह से महाविकास अघाड़ी सरकार गिर गई और सीएम उद्धव को इस्तीफा देना पड़ा. इसके बाद बीजेपी ने शिवसेना के बागी विधायकों के साथ मिलकर सरकार बना ली. इसमें एकनाथ शिंदे को सीएम बनाया गया है, वहीं देवेंद्र फडणवीस को डिप्टी सीएम का पद दिया गया है. आज इस सरकार का फ्लोर टेस्ट होना है, जिसमें शिंदे गुट के जीत के चांस ज्यादा हैं.

महाराष्ट्र में आज एकनाथ शिंदे सरकार की अग्नि परीक्षा है. शिंदे सरकार को आज फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित करना होगा. सुबह 11 बजे से महाराष्ट्र असेंबली का विशेष सत्र है. फ्लोर टेस्ट से पहले उद्धव कैंप के 16 MLA फंसे हुए नजर आ रहे हैं. अगर शिंदे सरकार के पक्ष में वोट नहीं दिया तो उनपर गाज गिर सकती है. फ्लोर टेस्ट से पहले कल स्पीकर के चुनाव में बीजेपी और शिंदे गुट ने जीत दर्ज की थी. इसमें राहुल नार्वेकर की जीत हुई. राहुल नार्वेकर ने विपक्ष के उम्मीदवार राजन साल्वी को 47 वोट से मात दे दी है. राहुल को 164 वोट मिले. वहीं साल्वी को 107 वोट मिले थे .