कैनबरा
वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। वहीं आस्ट्रेलिया में कोविड-19 तेजी से अपना पैर पसार रहा है। आस्ट्रेलियाई स्वास्थ्य अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों आगे चलकर अस्पताल प्रणाली को प्रभावित कर सकते है। समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार, BA.4 और BA.5 संक्रमण की लहर के दौरान अस्पतालों में COVID-19 के लिए इलाज किए जा रहे आस्ट्रेलियाई लोगों की संख्या 5 हजार को पार करने की उम्मीद है।

क्या कहते हैं आस्ट्रेलिया के ताजा आंकड़े
आस्ट्रेलिया के ताजा आंकड़ो के अनुसार, सोमवार को अस्पतालों में 4,327 कोविड​​​​-19 मामलों का इलाज किया जा रहा था, जो एक सप्ताह की शुरुआत में 3,511 थे। आस्ट्रेलियन मेडिकल एसोसिएशन (एएमए) के उपाध्यक्ष क्रिस मोय ने कहा कि अस्पताल एक बड़े खतरे का सामना कर रहे हैं क्योंकि देश में भी इन्फ्लूएंजा के मामलों की संख्या लगातार बढ़ रही है।
उन्होंने सेवन नेटवर्क टेलीविजन को आगे बताया- 'यह लहर हमें डरा रही है क्योंकि BA.4 और Omicron सबवेरिएंट स्ट्रेन अधिक संक्रामक हैं।' क्रिस मोय ने कहा कि तेजी से बढ़ रहे वायरस के मामले एक बड़े संकट का कारण बन सकते हैं और अधिक गंभीर बीमारी भी पैदा कर सकते हैं। उन्होंने कहा- 'इसलिए हम वास्तव में संक्रमण के तेज होने के बारे में चिंतित हैं और ऐसी स्थिति में जहां अनिवार्य रूप से, COVID वाले लोग हैं, वहां किसी आपात स्थिति में देखभाल में देरी हो सकती है।

देश में बढ़ा वायरस का प्रकोप
देश में दैनिक COVID-19 मामले की संख्या जुलाई के अंत या अगस्त की शुरुआत में अपने चरम पर पहुंचने से पहले तिगुनी हो सकती है। एसीटी के मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी केरीन कोलमैन ने कहा, 'कोविड ​​​​-19 की यह नई लहर, तीन साल में एसीटी के पहले इन्फ्लूएंजा सीजन और सांस की अन्य बीमारियों में वृद्धि के साथ, पहले से ही हमारे समुदाय और कार्यस्थलों को प्रभावित कर रही है।'

आपको बता दें कि मंगलवार को, आस्ट्रेलिया ने 40 हजार से अधिक नए कोविड​​​​-19 मामलों और 50 से अधिक मौतों की सूचना दी गई। मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) पाल केली ने संघीय सरकार के इस रुख को दोहराया कि आस्ट्रेलियाई लोगों को अपने स्वास्थ्य की जिम्मेदारी लेनी चाहिए। उन्होंने कहा- 'यदि आप घर के अंदर हैं तो मास्क पहनें, यदि आप उपचार के लिए पात्र हैं, तो अपने जनरल प्रैक्टिशनर से इसके बारे में अभी पता करें क्योंकि इससे आपको गंभीर बीमारी होने की संभावना कम हो जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने मंगलवार को लोगों को टीका लगवाने का आह्वान किया।