रायपुर
वेतन विसंगति को लेकर छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन शुक्रवार को विधानसभा का घेराव करने जा रहा था। इससे पहले कि प्रदेश के जिलों से निकल कर शिक्षक राजधानी रायपुर पहुंच पाते, पुलिस उनके घर पहुंच गई। दुर्ग में जहां शिक्षक नेताओं को पकड़ा गया,गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले में 50 शिक्षकोंं को गिरफ्तार किया गया है। कुछ जगहों पर सड़क व रेल मार्ग से पहुंचने वाले शिक्षकों को भी पकड़ा गया है।

दुर्ग जिले में भिलाई-3 पुलिस ने शुक्रवार सुबह संघ के प्रदेश सचिव सुखनंदर यादव को चरोदा और जिलाध्यक्ष कृष्ण कुमार वर्मा भिलाई तीन स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया है। इसी तरह पाटन ब्लाक अध्यक्ष विनोद देवांगन, पाटन ब्लाक से मोहन यादव, दुर्ग ब्लॉक अध्यक्ष युवराज बेलचंदन और धमधा ब्लाक अध्यक्ष उत्तम ठाकुर को उनके घर से गिरफ्तार किया गया है। इसके बाद फेडरेशन के पदाधिकारी सिरसा गेट में पुलिस कार्रवाई का विरोध कर रहे थे।

जीपीएम जिले के शिक्षक वादा निभाओ रैली और विधानसभा का घेराव के लिए रायपुर जाने निकले। ये शिक्षक पेंड्रा रोड रेलवे स्टेशन पहुंच गए थे। वहीं से पुलिस ने सभी शिक्षकों को गिरफ्तार कर लिया। इन शिक्षकों को शहर से करीब 5 किमी दूर गुरुकुल के जिम्नास्टिक हॉल में रखा गया है। इनमें जिला संयोजक पियूष गुप्ता, जिला प्रवक्ता अजय चौधरी सहित अन्य महिलाऔर पुरुष सहायक शिक्षक शामिल हैं।

छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन के प्रदेश सचिव यादव ने बताया कि शुक्रवार को संघ के सभी पदाधिकारी और सदस्य रायपुर में इक_ा होने वाले थे। इसके बाद वह लोग विधानसभा पहुंचकर घेराव करते। इसके लिए उन्होंने सभी जिला कलेक्टरों को आवेदन दिया था। इससे पहले शिक्षकों की गिरफ्तारी राज्य शासन के निर्देश पर की गई है। यादव का कहना है कि मांगें नहीं मानी गई तो सहायक शिक्षक अनिश्चित कालीन हड़ताल पर चले जाएंगे।