सोहागपुर
पेड़ पौधों और पशु पक्षियों  तथा पर्यावरण से गहरा लगाव  रखने वाले जाने-माने पत्रकार नीलम तिवारी के निवास पर  उगाई गई 40 साला यादों की बगीची में गई रात 11 जुलाई को रात कोई 11 बजे अद्भुत अलौकिक ^ब्रह्म कमल" खिला हिमालय के फूलों के राजा कहलाने वाले इस "ब्रह्म कमल" की अलौकिक खूबसूरती के साथ भीनी भीनी सुगंध भी अलौकिक ही थी । इसकी विशेषता यह है कि यह सिर्फ रात में ही खिलता है और साल में सिर्फ एक बार  वह भी घंटे 2 घंटे के लिए Saussurea obvallata इसका वानस्पतिक नाम है और यह हिमालय की तराईयों में पाया जाता है ।

फिलहाल इस के दर्शन और आनंद घर परिवार के सदस्यों ने ही उठाया है । श्री तिवारी के अनुसार उक्त पौधा उन्हें देश के प्रख्यात साहित्यकार कमलेश्वर जी की बेटी श्रीमती आलोक ममता त्यागी ने 2 साल पहले भेट किया था उल्लेखनीय है कि ममता त्यागी  देश के प्रख्यात कवि हिंदी  गजलोके पुरोधा स्वर्गीय दुष्यंत कुमार की बहू भी है ।

श्री तिवारी ने बताया कि आगामी 15-20 दिनों  में एक-एक करके इसके लगभग चार पांच फूल और खिलेंगे क्योंकि कलियां बनना  शुरू हो चुकी है । इसकी पूर्व सूचना आमतौर पर सभी पुष्प प्रेमियों को दी जाएगी ताकि और लोग भी इस अद्भुत अलौकिक फूल ब्रह्म कमल के दर्शन कर सके और इसकी लाजवाब खूबसूरती और अलौकिक भीनी खुशबू का लुफ्त उठा सकें ।