नई दिल्ली |  
 
अग्निपथ योजना पर केंद्र की आलोचना करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने रविवार को कहा कि यह योजना देश के युवाओं की जान लेने के साथ ही सेना को भी खत्म कर देगी। उन्होंने कहा कि सरकार गरीबों और युवाओं के लिए नहीं बल्कि बड़े उद्योगपतियों के लिए काम कर रही है। अग्निपथ योजना के खिलाफ आंदोलन करने वालों के समर्थन में एकजुटता दिखाते हुए रविवार को जंतर-मंतर पर कांग्रेस पार्टी द्वारा आयोजित 'सत्याग्रह' में हिस्सा लेने के दौरान प्रियंका गांधी ने यह बात कहीं। उन्होंने युवाओं से अग्निपथ योजना के खिलाफ शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने की अपील की और साथ ही उन्हें कांग्रेस पार्टी के पूर्ण समर्थन का आश्वासन भी दिया। सभी सांसदों, सीडब्ल्यूसी सदस्यों और एआईसीसी पदाधिकारियों ने भी इस विरोध-प्रदर्शन में भाग लिया।
 
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अग्निपथ योजना का विरोध कर रहे युवाओं से कहा कि आपसे बड़ा देशभक्त कोई नहीं है। मैं आपको बताना चाहती हूं, आप अपनी आंखें खोलिए तथा फर्जी राष्ट्रवादियों एवं फर्जी देशभक्तों को पहचानिए। पूरा देश और कांग्रेस आपके संघर्ष में आपके साथ है। 
उन्होंने हरिवंशराय बच्चन की कविता 'अग्निपथ' की पंक्तियां उद्धृत करते हुए युवाओं से दृढ़ता एवं शांतिपूर्वक संघर्ष करने की अपील की। प्रियंका ने कहा कि इस कविता के शीर्षक को योजना का नाम दिया गया है, जो युवाओं को बर्बाद कर देगी। यह योजना सेना को तबाह कर देगी। इस सरकार की मंशा को पहचानिए। आपके संघर्ष में पूरा देश आपके साथ है। उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक तरीके से तथा सत्य एवं अहिंसा के मार्ग पर चलते हुए इस सरकार को गिराइए।

'सत्याग्रह' में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि केंद्र सरकार गरीबों और युवाओं के लिए नहीं बल्कि बड़े उद्योगपतियों के लिए काम कर रही है। प्रियंका ने कहा कि यह योजना देश के युवाओं को मार डालेगी, सेना को खत्म कर देगी… कृपया इस सरकार की मंशा देखें और इसे गिराएं। ऐसी सरकार लाओ जो देश के लिए सोचती हो, और देश की संपत्ति की रक्षा करे। मैं आपसे शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने का आग्रह करती हूं। विरोध करें, लेकिन रुकें नहीं। बता दें कि, सशस्त्र बलों में नई भर्ती योजना के खिलाफ देश के विभिन्न हिस्सों में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। कुछ जगहों पर विरोध प्रदर्शन हिंसक हो गए और ट्रेनों में आग लगा दी गई। हाल ही में शुरू की गई अग्निपथ भर्ती योजना के खिलाफ युवाओं के आंदोलन के कारण शुक्रवार को 340 ट्रेन सेवाएं प्रभावित हुईं।

क्या है अग्निपथ योजना?

विशेष रूप से, सरकार द्वारा 14 जून को सशस्त्र बलों की भर्ती प्रक्रिया में बदलाव लाने के प्रयास में अग्निपथ योजना शुरू की गई थी। नई सैन्य भर्ती योजना को विपक्ष के विरोध का सामना करना पड़ रहा है, केंद्र ने अग्निवीरों की भर्ती के लिए ऊपरी आयु सीमा में बदलाव लाने का फैसला किया है। एकमुश्त छूट देते हुए केंद्र ने 16 जून, 2022 को घोषणा की कि अग्निपथ योजना के माध्यम से भर्ती के लिए अग्निवीर की ऊपरी आयु सीमा 21 वर्ष से बढ़ाकर 23 वर्ष कर दी गई है। इस योजना को अग्निपथ नाम दिया गया है और इस योजना के तहत चयनित युवाओं को अग्निवीर के रूप में जाना जाएगा। अग्निपथ देशभक्ति से प्रेरित युवाओं को चार साल की अवधि के लिए सशस्त्र बलों में सेवा करने का अवसर देगी।