शहडोल
सोहागपुर थाना क्षेत्र पीड़ित सुरेंद्र तिवारी ने शिकायत करते हुए बताया कि वार्ड नंबर 17 मे स्थित जमीन हल्का नंबर 77 खसरा नंबर 300 जिसका भू_भाग मिथिलेश गुप्ता निवासी टिमनी जिला उमरिया और विमलेश गुप्ता निवासी करकी जिला शहडोल के द्वारा जमीन ली गई थी जिसका पीड़ित सुरेंद्र तिवारी द्वारा पंजीयन भी करा दिया जब पैसे लेने के लिए इनसे पीड़ित ने संपर्क किया तो इनके द्वारा कहा गया की हम तो तुम्हारा पैसा उमेश नायक को दे दिए हैं।

यह बोला गया कि आपने तो जमीन मुझसे ली है तो आपने उमेश नायक को पैसे क्यों दिए जमीन का मालिक मैं हूं वैसे मुझे आप को देने चाहिए जिस पर विमलेश गुप्ता व मिथिलेश गुप्ता द्वारा पीड़ित के साथ गाली गलौज करने लगे यहां तक की मारने के लिए भी उतारू हुए और कहा गया कि अपना पैसा भूल जाओ और जो करना है वह कर लो मैं तुम्हारा पैसा नहीं दूंगा। किसी तरह अपनी जान बचाकर अपने निज स्थान सोहागपुर पहुंचा फिर रिपोर्ट करने के लिए सोहागपुर थाने जाकर रिपोर्ट लिखानी चाहि तो सोहागपुर  थाने द्वारा रिपोर्ट नही लिखीं गई जिस पर पीड़ित सुरेंद्र तिवारी द्वारा पुलिस अधीक्षक कार्यालय जा कर शिकायत की शिकायत करते हुए कहा कि विमलेश गुप्ता, मिथलेश गुप्ता और उमेश नायक पर जांच कार्यवाही करे।

पीड़ित का कहना हैं की उनसे मुझे जान का भी खतरा हैं सूत्रों की माने तो उमेश नायक निवासी करपा का हैं पर रहता शहडोल में ही है और यही रह कर जमीन की बिक्री कराना पंजीयन, रजिस्ट्री जैसे भी कार्य इनके द्वारा कराया जाता हैं अगर देखा जाएं तो पीड़ित सुरेंद्र तिवारी पिता बिंदु राम तिवारी भोपाल में रहते हैं, इसी वजह से कुछ भू माफियाओं की नज़र इनके जमीन पर हैं। हालाकि यह विषय एक जांच का विषय हैं नवागत एसपी साहब द्वारा इन पर क्या कार्यवाही किया जाता हैं।