लखनऊ
बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे के बाद अब योगी सरकार गंगा एक्सप्रेसवे बनाने की तैयारी कर रही है।  औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल नंदी ने कहा है कि गंगा एक्सप्रेसवे तय समय से पहले बन जाएगा और कोशिश होगी जब कुंभ मेला शुरू हो तो लोग दिल्ली से इस एक्सप्रेसवे के जरिए ही प्रयागराज आएं। उन्होंने कहा कि योगी सरकार अब कुछ और नए एक्सप्रेसवे की योजना बनाने जा रही है।

मंत्री नंदी ने शुक्रवार को राज्यमंत्री जसवंत सैनी, अपर मुख्य सचिव औद्योगिक विकास अरविंद कुमार, यूपीडा के सीईओ अवनीश अवस्थी, अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल के साथ प्रेस वार्ता में यह जानकारी दी। सौ दिन की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए मंत्री ने कहा कि हमने 80 हजार 224 करोड़ के वास्तविक निवेश को धरातल पर उतारा है। इसमें निवेशकों ने निर्माण या उत्पादन शुरू किया है। निवेश के लिए यूपी सबसे बेहतरीन गंतव्य है। प्रदेश में छह एक्सप्रेसवे पहले से संचालित है और सात एक्सप्रेसवे निर्माणाधीन हैं। पूरे भारत के एक्सप्रेसवे नेटवर्क का करीब 38 फीसदी उत्तर प्रदेश में है।

उन्होंने कहा कि गंगा एक्सप्रेस वे को केंद्र सरकार से पर्यावरण और वन सहित सभी क्लियरेंस मिल चुके हैं और 95 फीसदी भूमि का अधिग्रहण भी किया जा चुका है। गंगा एक्सप्रेस वे के 594 किमी में 50 फीसदी भूमि पर कब्जा ले लिया गया, जुलाई के अंत तक पूरा कब्जा ले लेंगे। दिसंबर तक पूर्वांचल एक्सप्रेस वे बलिया से लेकर बिहार के बक्सर तक जुड़ेगा।