नई दिल्ली
गोवा को लगभग एक दशक के इंतजार के बाद राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी मिली है। राज्य के खेल मंत्री गोविंद गौडे ने राज्य विधानसभा में इसका एलान करते हुए खुशी जताई।

राष्ट्रीय खेल 2023 का आयोजन गोवा में किया जाएगा। राज्य के खेल मंत्री गोविंद गौडे ने राज्य विधानसभा में इसकी जानकारी दी। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि लगभग एक दशक के इंतजार के बाद गोवा को राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी मिली है। उन्होंने यह भी बताया है कि राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी के लिए जिन सुविधाओं की जरूरत है, वो इस साल दिसंबर के महीने तक उपलब्ध हो जाएंगी। इसके साथ ही गोविंद गौडे ने राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी का मौका देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह को धन्यवाद कहा।

विधानसभा में गौडे ने बताया कि गोवा सरकार को भारतीय ओलंपिक एसोसिएशन की तरफ से एक मेल मिला है, जिसमें युवा और खेल केन्द्रीय मंत्रालय की भी सहमति है। इस मेल में बताया गया है कि 37वें राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी गोवा करेगा। साल 2015 में राष्ट्रीय खेलों का आयोजन केरल में हुआ था। इसके बाद साल 2016 में गोवा को 36वें राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी करनी थी। 2018 और 2019 में भी गोवा इन खेलों के आयोजन के लिए जरूरी सुविधाएं नहीं उपलब्ध करा पाया। इसके बाद इन्हें 2020 तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

साल 2020 में कोरोना महामारी के कारण इन खेलों को स्थगित करना पड़ा और गोवा सरकार अभी भी इस बात को लेकर निश्चिंत नहीं थी कि वह इस साल इन खेलों की मेजबानी कर पाएगी या नहीं। गौडे ने बताया कि उन्होंने पहले ही विधानसभा के सभी सदस्यों को बता दिया था कि दिसंबर 2022 तक राज्य राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी के लिए तैयार होगा।