प्रयागराज
बीते 10 जून को जुमे की नमाज के बाद प्रयागराज के अटाला में भड़की हिंसा के मामले में जिला प्रशासन सख्त रुख अपनाया है। हिंसा के बाद से फरारा चल रहे पांच अभियुक्तों पर प्रयागराज के एसएसपी ने 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। वहीं, इस मामले में अब तक 100 से अधिक उपद्रवियों की गिरफ्तारी हो गई है। अन्य की खोज में लगातार पुलिस दबिश देने में जुटी है।

सोमवार को प्रयागराज एसएसपी अजय कुमार पांडेय ने पांच अभियुक्तों एआईएमआईएम के जिलाध्यक्ष शाह आलम, करेली के पार्षद फजल खान, पूरामुफ्ती के जिशान रहमानी, उमर खालिद और सिविल लाइंस के आशीष मित्तल पर 25-25 हजार रुपये के इनाम की घोषणा की है। पांचों आरोपियों के खिलाफ हिंसा भड़काने के आरोप में खुल्दाबाद थाने में नामजद मामला दर्ज है। इन पांचों आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने पहले ही कोर्ट से गैर जमानती वारंट जारी करा लिया है।

जुमे की नजाम के बाद भड़की थी हिंसा
बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नुपुर शर्मा के बयान के विरोध में प्रयागराज में जुमा की नमाज के बाद अटाला इलाके में बीते 10 जून को जमकर बवाल हुआ था। इस दौरान पुलिस ने हालात पर नियंत्रण पाने के लिए बल प्रयोग किया। इसके लिए आंसू गैस के गोले छोड़े गए और हवाई फायरिंग भी की गई। इस हिंसाक घटना में पुलिस के छह जवान घायल हो गए थे।