नई दिल्ली
चार साल के लिए सेना में भर्ती के लिए लाई गई 'अग्निपथ योजना' में महिलाओं को भी भर्ती किया जाएगा. इस साल नौसेना में 3 हजार 'अग्निवीरों' की भर्ती होगी. इनमें से 20% यानी लगभग 600 महिला अग्निवीर होंगी. अग्निपथ योजना से सेना में जुड़ने वालों को अग्निवीर कहा जाएगा.
 
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अग्निपथ योजना का ऐलान 14 जून को किया था. इस योजना के तहत 17.5 से 21 साल के युवाओं को चार साल के लिए तीनों सेनाओं में भर्ती किया जाएगा. हालांकि, इस साल 23 साल तक के युवाओं को छूट दी गई है. चार साल बाद इनमें से 25% अग्निवीर सेना में बरकरार रहेंगे और बाकी सेवा मुक्त हो जाएंगे.

अग्निपथ योजना के तहत तीनों सेनाओं में इस साल 46 हजार युवाओं को भर्ती किया जाएगा. इनमें से 40 हजार युवा थल सेना में भर्ती होंगे. योजना के तहत युवाओं की भर्ती प्रक्रिया शुरू हो गई है. इस साल के आखिर तक अग्निवीरों का पहला बैच भी मिल जाएगा.
 
नौसेना में अग्निवीरों की भर्ती के लिए 1 जुलाई से रजिस्ट्रेशन शुरू हो चुके हैं. एप्लीकेशन विंडो 15 से 30 जुलाई तक खुली रहेगी. एग्जाम और फिजिकल टेस्ट अक्टूबर के बीच में होंगे, जबकि 21 नवंबर से ट्रेनिंग शुरू होगी.इसी बीच नौसेना के एक अधिकारी ने कहा है कि इस साल 3 हजार अग्निवीरों को भर्ती की जाएगा, जिसमें 20 फीसदी महिलाएं होंगी.