जबलपुर
 जबलपुर में बारिश का आंकड़ा औसतन 15 इंच तक ही पहुंच पाया है। जबकि 107 साल पहले जुलाई माह में जबलपुर में चेरापूंजी जैसे हालात बन गए थे। वर्ष 1915 में 30 जुलाई को घनघोर बारिश हुई थी। महज 24 घंटे में बारिश का आंकड़ा 342.9 मिलीमीटर यानी 13.5 इंच पहुंच गया था। इसके बाद जलवायु चक्र में आए बदलाव के कारण इस तरह घनघोर वर्षा नहीं हुई। पिछले 10 वर्षों में जुलाई माह में हुई बारिश के आंकड़े पर गौर करें तो वर्ष 2016 में जबलपुर में सर्वाधिक 637.92 मिलीमीटर यानी करीब 25 इंच बारिश हुई थी। इसके पहले 2012 में 24 इंच बारिश दर्ज की गई है। बाकी आठ वर्षों में बारिश का आंकड़ा औसतन 14-15 इंच तक पर ही सिमटा रहा।

92 वर्ष पहले माह में हुई थी 44 इंच बारिश-

इसी तरह जुलाई माह में 92 वर्ष पहले 1930 में सीजन में सर्वाधिक 1137 मिलीमीटर 44 इंच बारिश रिकार्ड की गई थी। आषाढ़ का महीना लगभग गुजर चुका है। 13 जुलाई से सावन दस्तक दे रहा है। लिहाजा ये माना जा रहा है इस बार जुलाई माह में बारिश का आंकड़ा 40 के आस-पास पहुंच सकता है।

20 वर्ष पहले सूखा रहा आषाढ़-

जुलाई माह में सबसे कम बारिश की बात करें तो करीब 20 वर्ष पूर्व वर्ष 2002 में जुलाई माह में आषाढ़ का महीना सूखा रहा। इस दौरान महीने भर में महज 85 मिलीमीटर यानी महज तीन इंच ही बारिश रिकार्ड की गई थी। इसी तरह बीते दो वर्षो में भी आषाढ़ ने निराश किया। वर्ष 2020 में जहां छह इंच बारिश हुई वहीं बीते वर्ष 2021 में महज नौ इंच बारिश से ही संतोष करना पड़ा। जबकि मौसम विभाग की माने तो जुलाई माह औसत वर्षा 14 से 15 इंच होती है।