सिंगरौली
मोरवा थाना क्षेत्र में सोमवार दोपहर फिर एक दर्दनाक हादसे में एक दंपत्ति की दर्दनाक मौत हो गई। घटना दोपहर करीब 1 बजे मुवानी डैम के समीप घटी। जहां विपरीत दिशा से आते हुए ट्रेलर ने स्कूटी सवार पति पत्नी को रौंद दिया। घटना में जहां पुरुष की तत्काल मौके पर मौत हो गई, वही गंभीर अवस्था में घायल महिला ने चिकित्सालय में इलाज के दौरान दम तोड़ा। प्राप्त जानकारी अनुसार झिगुरदा एसएचएफ 203 एनसीएल कॉलोनी निवासी मोहम्मद शाहिद अंसारी पिता जुलाल अंसारी उम्र 60 वर्ष एवं उनकी पत्नी नसरीन खातून किसी कार्यवश अपनी स्कूटी क्रमांक UP 64Ak 3859 से बैढ़न जा रहे थे। सिंगरौली जयंत मार्ग पर वह खदान क्षेत्र के आगे पहुंचे ही थे कि विपरीत दिशा निगाही से कोयला लोड कर महदइया साइडिंग जाते हुए ट्रेलर क्रमांक MP 07HB 6404 की चपेट में आ गए। बताया जाता है कि ट्रेलर चालक तेज रफ्तार में था जिस कारण यह दुर्घटना घटी। घटना के बाद चालक वाहन छोड़ फरार हो गया। इस घटना में मोहम्मद शाहिद अंसारी की मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद वहां से गुजर रहे राहगीरों ने पुलिस को इसकी सूचना दी। जिसके बाद निरीक्षक मनीष त्रिपाठी द्वारा भेजी गई टीम ने मोहम्मद शाहिद अंसारी के शव को पीएम हेतु भिजवाया वहीं घायल अवस्था में पड़ी नसरीन खातून को तत्काल इलाज हेतु नेहरू शताब्दी चिकित्सालय भिजवाया, जहां इलाज के दौरान उसने भी दम तोड़ दिया। बताया जाता है कि मृतक मोहम्मद शाहिद अंसारी 6 माह पूर्व ही एनसीएल से रिटायर हुए थे। मोरवा पुलिस ने टेलर को कब्जे में लेकर घटना की विवेचना शुरू कर दी है।

 कोयला वाहन ने स्कूटी सवार पति पत्नी को रौंदा, दोनों की मौत
कोयला वाहन ने स्कूटी सवार पति पत्नी को रौंदा, दोनों की मौत

 
एनसीएल प्रबंधन की लापरवाही से आए दिन हो रही दुर्घटनाएं
गौरतलब है कि मोरवानी डैम इको पार्क को सैलानियों के लिए खोल दिया गया है। प्रदूषण एवं यातायात व्यवस्था को सुगम बनाने हेतु जिला प्रशासन ने कोल परिवहन के लिए अलग मार्ग की व्यवस्था की बात कही गई थी। एनसीएल द्वारा मढौली से अलग मार्ग की व्यवस्था भी की गई थी, परंतु नियमों को ताक पर रखते हुए अभी भी मुख्य मार्ग से ही भारी भरकम कोल वाहनों की आवाजाही की जा रही है। दिनभर इस मार्ग पर धूल का गुबार उड़ता देखा जा सकता है। हालात इतने बदतर हो जाते हैं कि राहगीरों को आगे की सड़क नहीं दिखती। दोपहिया वाहनों से चलने वाले लोगों के लिए तो यह मार्ग किसी नर्क से कम नहीं रह गया। न एनसीएल प्रबंधन न जिला प्रशासन इस और संज्ञान ले रहा है। जिस कारण आए दिन लोगों को अपनी जान गवानी पड़ रही है