मेलबर्न । ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन ने कहा है कि इंग्लैंड के कुछ खिलाड़ियों के कोविड-19 पाबंदियों को देखते हुए एशेज में नहीं खेलने की धमकियों के बाद भी यह टेस्ट श्रृंखला अपने तय समय पर आयोजित होगी। वहीं इससे पहले कप्तान जो रुट सहित इंग्लैंड के कई खिलाड़ियों ने ऑस्ट्रेलिया में कोरोना संक्रमण को देखते हुए कड़ी पाबंदियों पर चिंता व्यक्त की हैं, यहां तक कि ये खिलाड़ी दौरे से भी हटने की योजना बना रहे हैं।

वहीं दूसरी ओर पेन ने कहा कि एशेज तय समय पर आयोजित की जाएगी। इसका पहला टेस्ट 8 दिसंबर से शुरू होगा। साथ ही कहा कि अगर जो रूट नहीं आना चाहते हैं तो भी कार्यक्रम समय पर होगा। इससे पहले रूट और इंग्लैंड की टीम के अन्य सदस्यों ने ‘बायो-बबल की थकान’ का हवाला देते हुए कहा था कि पाबंदियों को कम किया जाना चाहिये।

पेन ने कहा कि उनके पास विकल्प है कि वे यहां आना चाहते हैं या नहीं। इंग्लैंड के खिलाड़ियों को यहां आने के लिये बाध्य नहीं कर रहा है। हम जिस दुनिया में रहते हैं, यह उसकी खूबसूरती है कि आपके पास विकल्प होता है। अगर आप नहीं आना चाहते तो मत आओ। पेन ने साथ ही इंग्लैंड के पूर्व स्टार केविन पीटरसन से कहा कि खिलाड़ियों को अपना फैसला खुद करने दें कि वे एशेज में खेलना चाहते हैं या नहीं।

उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि पीटरसन हर चीज के बनते हैं विशेषज्ञ है, इसमें कोई संदेह नहीं है। पेन ने कहा कि इस पर फैसला खिलाड़ियों पर छोड़ दीजिए, उन्हें बोलने दीजिए। हमने एक भी इंग्लैंड के खिलाड़ी को यह कहते हुए नहीं सुना कि वे नहीं आ रहे हैं। वहीं हाल में पीटरसन ने ट्विटर पर ऑस्ट्रेलिया के पृथकवास नियमों की कड़ी आलोचना की थी और कहा था कि खिलाड़ी बायो-बबल में रहकर थक गए हैं इसलिए पाबंदियों को हटाना चाहिये।