इंदौर
 मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर (indore) में मंगलवार रात को एरोड्रम थाना क्षेत्र में रहने वाले हिस्ट्रीशीटर बदमाश अनिल पिता जगदीश उर्फ बाबा दीक्षित पर गोली चला दी थी। गोली लगने के बाद गंभीर रूप से घायल अनिल दीक्षित को इलाज के लिए निजी अस्पताल ले जाया गया जहां से उसे इलाज के लिए एम.वाय. अस्पताल रैफर किया गया था। जिसके बाद बुधवार को एम.वाय. अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। बताया जा रहा पुराने विवाद के चलते अन्य बदमाशों ने अनिल पर हमला किया था।

 

दरअसल, मंगलवार रात को हीरानगर थाना क्षेत्र मे तीन से चार बदमाशों ने एरोड्रम थाना क्षेत्र के लिस्टेड बदमाश को सिर में गोली मार दी थी। इसके बाद घायल का इलाज निजी हॉस्पिटल में जारी था, इसके बाद घायल की इलाज के दौरान एम.वाय. अस्पताल में मौत हो गई। इधर, हत्या की इस वारदात की गुत्थी सुलझाने निकली हीरानगर पुलिस ने हत्या के आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

बताया जा रहा है कि मंगलवार रात को हीरानगर थाना क्षेत्र के मर्थोमा स्कूल के सामने हिस्ट्रीशीटर बदमाश अनिल दीक्षित सिगरेट का पैकेट लेने के लिए उतरा था तभी कार से आये तीन से चार बदमाशों ने अनिल दीक्षित पर फायरिंग कर दी। जिससे अनिल के सिर में गोली लग गई थी और बुधवार को घायल अनिल की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि अनिल दीक्षित पूर्व सरपंच बाबा दीक्षित का बेटा है, जो कि एरोड्रम थाना क्षेत्र का हिस्ट्रीशीटर बदमाश है जिस पर दर्जनों मामले दर्ज है, फिलहाल मृतक अनिल दीक्षित का शव पोस्टमार्टम के लिए एम.वाय. हॉस्पिटल भिजवाकर पुलिस ने मर्ग कायम कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

हीरानगर पुलिस के जांच के अधिकारी राजूलाल खतुरिया ने बताया कि 18 वर्षीय मृतक इंदौर के एरोड्रम थाना क्षेत्र के महावीर नगर का निवासी था। उन्होंने बताया कि 12 जुलाई रात को 9 बजे मृतक सिगरेट का पैकेट लेने के लिए उतरा था, और इसके पीछे आये वाहन में सवार लोगो ने गोली चला दी जिसके बाद उसे इलाज के लिए भर्ती किया गया, और एम.वाय. उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। वहीं पुलिस इस मामले में सीसीटीवी के आधार पर आरोपियों की तलाश में जुट गई है।